कुत्ता वाला सेक्सी कुत्ता वाला सेक्सी

ओव्हुलेशन म्हणजे काय

ओव्हुलेशन म्हणजे काय, मैं थोड़ी देर तक स्मिता के बूब्स चूस्ता रहा ऑर मसलता रहा …स्मिता के बूब्स मेरे थूक से तर हो गये थे …. मैं-चल फिर …तू मुझे रसीली चूत दिल्वाती जा……ऑर ये लंड तेरा ख्याल रखेगा(ये कह कर मैने आंटी की गंद दबा दी)

क्योकि वो जानता था कि सरिता के ज़रिए उसे अपनी मंज़िल जल्दी हासिल होगी...अगर सरिता आकाश को चुदाई के लिए मना लेगी तो आकाश , धर्मेश की मोम और दीदी को भी छोड़ लेगा..और धर्मेश का रास्ता खुल जाएगा... ऐसी ही आवाज़ो के साथ मोना उछल कर चुदते हुए हुए थक गई ओर मेरे उपर लेट कर अपनी गान्ड को गोल-गोल घुमाने लगी…

आंटी की फ्रेंड का घर 1 हवेली थी…शानदार लग रही थी….पूरा घर लाइटिंग से जगमगा रहा था…म्यूज़िक की आवाज़ भी आ रही थी ऑर लोग भी आते जा रहे थे… ओव्हुलेशन म्हणजे काय मैं(बीच मे)- ह्म्म...पता था मुझे...वही से कुछ बात लीक हुई होगी...बट डोंट वरी...हम उस जगह नही जा रहे जिस जगह डिसाइड हुआ था...

स्पेशल सेक्सी पिक्चर

  1. अकरम- क्या कहा...गिर गया था...साले ये हाथ पर घाव देख.. ये गिरने से नही होता....किसी हथ्यार से ही होता है....
  2. मैं- ह्म्म..सस्स्रररुउउउप्प्प्प.....सस्स्स्र्र्ररुउउउप्प्प्प....सस्स्स्र्र्ररुउउउप्प्प्प.....सस्स्रररुउउप प्रत्यय म्हणजे काय मराठी
  3. मैं उसके फूल से चेहरे को देखकर सोच रहा था कि इतनी सुंदर लड़की मुझसे इतना प्यार करती है और मैं क्या हूँ...??? हुमारी गंद चुदाई पूरे मज़े से चल रही थी और सोनू भी मज़े लेते हुए लंड को हिला रहा था और अपनी माँ की गंद मारते हुए देख रहा था….
  4. ओव्हुलेशन म्हणजे काय...करती तो उसके स्तन भर कर सामने आ जाते और राजकुमारी का स्पष्ट दृश्य सामने से दिखाई पड़ता. उसने यह बात जान ली और बोला कि.. मुझे अंधेरे मे दिख तो नही रहा था…मैने सोचा कि उसे डर है कि संजीव जान ना जाय…चलो कोई नही लेने दो मज़े….मुँह मे भी ले लेगी…ऑर यही सोच कर मैं लेट गया ऑर वो मेरे लंड को मूठ मारती रही…जब अगले 5 मिनट के बाद भी लंड उसने मुँह मे नही लिया तो मेरे सबर का बाँध टूट गया ऑर मैं थोड़ा तेज ओर गुस्से मे बोला
  5. मैं(मन मे)- ये फोटो यहाँ कैसे...क्या इस महल का मालिक इन्हे जानता है...या फिर मैं ही ग़लत देख रहा हूँ...क्या ये फोटो उन्ही की है... मुझे इस बात का डर था की होटल में लगे सीसीटीवी कैमरों में हमारी गतिविधियां जरूर रिकॉर्ड हुई होंगी जो हमारी पुलिस को बताई गई बातों से मेल नहीं खाती थी। हम तीनों ही डरे हुए थे आपसी संबंधों को खुलकर न बता पाने की वजह से हमने पुलिस से यह झूठ बोला था।

गणित प्रश्न उत्तर मराठी

मैं-हो सकता है जो तू कह रहा है वो सच हो पर सिर्फ़ इस बेस पर तू कैसे सोच सकता है…इंसान के खुश रहने या उदास रहने का कोई टाइम नही होता मेरे भाई..

जैसे ही हम गार्डेन मे आए…तो हम ने अपने नंबर एक्सचेंज किए ऑर किस किया ऑर पायल को फिर मिलने का बोल कर हम हवेली मे आने लगे…... मैं जाघो को मसाज करते हुए उसकी चूत के पास तक अपनी उंगलिया ले जा रहा था...बस उंगली से चूत का टच नही करवाया...

ओव्हुलेशन म्हणजे काय,हमें स्पष्ट इशारा मिल चुका था कि वह व्यक्ति छाया के बिल्कुल करीब है। हमारे साथ आए सिपाही ने एक जोरदार लात दरवाजे पर मारी और दरवाजा खुल गया। अंदर मेरी छाया थी और वह आदमी। उसे देख कर मैं हतप्रभ था।

इतना तो मैं दृढ़ प्रतिज्ञ थी कि मैं उसके साथ संभोग नहीं कर सकती थी परंतु मैंने अपने मन में कुछ सोच रखा था और आज मैं उसे अमल में लाना चाहती थी। नहाने के पश्चात मैंने अपनी सबसे सुंदर नाइटी पहनी जिसमें मेरा शरीर तो पूरा ढका हुआ था परंतु शरीर के उभार स्पष्ट दिखाई पड़ रहे थे।

यह सोमिल को फसाने की किसी की चाल हो सकती है. पैसे का गबन हुआ है। इस तरह आलीशान कमरे उसे अय्याशी करते हुए दिखा कर उस पर पैसों के गबन के आरोप को मजबूती दी जा सकती हैसोयाबीन खाण्याचे फायदे

हां रिज़वान मैंने कहा - तुम दोनों की ये चीख तो मैंने भी सुनी थी पर उस समय मेरा लंड भी ज़ीनत की चूत में थाl छाया ने वापस आते समय ने मुझसे कहा आपने मेरा बहुत ख्याल रखा है हमारे बीच जो फासला बन गया है उसे सिर्फ सीमा ही भर सकती है. सीमा एक अच्छी लड़की है मैं इस बात की गारंटी देती हूं. आप सीमा को स्वीकार कर सकते हैं. पर उसे आपको ही मनाना होगा. मैं छाया की समझदारी पर बहुत खुश था मैंने छाया से कहा

नही- नही...ऐसा नही हो सकता....ऐसा होता तो वो मेरी सूरत भी नही देखता....सूरत क्या...वो मुझे मार डालता....ऐसा नही है...

पारूल एक्शिटेड होकर सब बताने लगी...उसने क्या खाया, उसके कपड़े...घर का महॉल..और मैं उसे प्यार से देख रहा था...,ओव्हुलेशन म्हणजे काय मैं भी थोड़ी देर बाद सविता को बोल कर संजू के घर निकल आया…मैने सोचा कि अब कल ही वो डाइयरी पढ़ुंगा…देखते है उसमे क्या है…

News